समर्थक / Followers

सोमवार, 27 जून 2011

अंडमान में 'सरस्वती सुमन' का लोकार्पण और संगोष्ठी : चित्रमय झलकियाँ

(कृष्ण कुमार यादव के अतिथि संपादन में जारी 'सरस्वती-सुमन' पत्रिका के 'लघु-कथा' विशेषांक (जुलाई-सितम्बर-2011) का पोर्टब्लेयर (अंडमान) में 26 जून को विमोचन करते हुए डा. आनंद सुमन 'सिंह', प्रधान संपादक-सरस्वती सुमन, श्री एस. एस. चौधरी, प्रधान वन सचिव, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, कृष्ण कुमार यादव, निदेशक डाक सेवाएँ, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, एवं डा. जयदेव सिंह, प्राचार्य टैगोर राजकीय शिक्षा महाविद्यालय, पोर्टब्लेयर.)

(उपस्थित विद्वान जन, साहित्यकार और श्रोतागण)(लघु-कथा विशेषांक पर प्रकाश डालते अतिथि संपादक- कृष्ण कुमार यादव)
(कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के अध्यक्ष- देहरादून से पधारे, डा. आनंद सुमन 'सिंह', प्रधान संपादक-सरस्वती सुमन )
***********************************************************************************

(कार्यक्रम के दूसरे सत्र में 'वर्तमान दौर में साहित्य के बदलते सरोकार' विषय पर संगोष्ठी हुई. जिसमें विभिन्न वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये.)
(मुख्य अतिथि श्री एस. एस. चौधरी, प्रधान वन सचिव, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह,का संबोधन)(कृष्ण कुमार यादव, निदेशक डाक सेवाएँ, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह,का संबोधन) (डा. आर. सी. श्रीवास्तव, निदेशक- केंद्रीय कृषि अनुसन्धान संस्थान का संबोधन)
(डा. व्यास मणि त्रिपाठी, संपादक-द्वीप लहरी एवं एसोसिएट प्रोफ़ेसर, हिंदी विभाग, जवाहर लाल नेहरु राजकीय महाविद्यालय, पोर्टब्लेयर का संबोधन)

(डा. संत प्रसाद राय, शिक्षाविद का संबोधन) (डा. आर. एन. रथ, विभागाध्यक्ष, राजनीति शास्त्र, जवाहर लाल नेहरु राजकीय महाविद्यालय, एवं अध्यक्ष- चेतना, पोर्टब्लेयर का संबोधन)

(श्री दुर्ग विजय सिंह 'दीप', उपनिदेशक-आकाशवाणी, पोर्टब्लेयर का संबोधन)

























एक टिप्पणी भेजें