समर्थक / Followers

मंगलवार, 2 अगस्त 2016

नवोदय विद्यालय समिति द्वारा आयोजित संकुल स्तरीय विज्ञान व कला प्रदर्शनी का डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने किया उद्घाटन

विज्ञान से जनसाधारण को जोड़ने के लिए जरुरी है कि इसे किताबों के पन्नों से निकालकर व्यावहारिक रूप दिया जाये। विज्ञान-प्रौद्योगिकी और नवाचार की पहुँच समाज के अंतिम व्यक्ति तक सुनिश्चित किया जाय। विज्ञान की विशिष्टता को सामान्य व्यक्ति से जोड़े बिना इसका विकास संभव नहीं है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने नवोदय विद्यालय समिति द्वारा आयोजित संकुल स्तरीय विज्ञान एवं कला प्रदर्शनी का जवाहर नवोदय विद्यालय, तिलवासनी, जोधपुर में उद्घाटन करते हुए कहा।

मुख्य अतिथि के रूप में निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने अपने संबोधन में कहा कि, आज के युवाओं में संवेदना के साथ-साथ नए विचारों का पोषण, रचनात्मकता और जिज्ञासु परिप्रेक्ष्य विकसित करने की जरूरत है। इनकी पहल से ही समाज में वैज्ञानिक दृष्टि, जागरूकता और प्रगतिशील विचारों का विकास होगा। विज्ञान और कला में कोई विरोधाभास नहीं है, बल्कि दोनों मिलकर ही समाज में रचनात्मक दृष्टिकोण और वैज्ञानिक मनोवृत्ति पैदा कर सकते हैं।


इस अवसर पर नवोदयी विद्यार्थियों ने पर्यावरण संरक्षण, वाटर हार्वेस्टिंग, पनबिजली का प्रयोग, आर्गेनिक खेती, विद्युत बचाने, रिमोट सेंसिंग, स्वच्छता अभियान जैसे तमाम उपयोगी चीजों पर मॉडल बनाकर और सिंधु घाटी सभ्यता से लेकर राजस्थानी संस्कृति के विभिन्न पहलुओं पर प्रदर्शनी प्रस्तुत की। इस अवसर पर जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, चूरू, पाली, झुञ्झुनू, बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ सहित राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के दस नवोदय विद्यालय के विद्यार्थियों ने अपने मॉडल्स प्रस्तुत किए। विद्यार्थियों द्वारा बनाए गए विभिन्न मॉडल्स की प्रशंसा करते हुये श्री यादव ने कहा कि नवोदय विद्यालय का पूर्व छात्र होने के कारण नवोदयी विद्यार्थियों की मेधा पर मुझे पूर्ण विश्वास और गर्व है। ये ही कल के रमन, भाभा और कलाम  हैं। श्री यादव ने कहा कि आज तमाम नवोदयी विद्यार्थी देश-दुनिया में विभिन्न क्षेत्रों में नाम कमा रहे हैं।  

जवाहर नवोदय विद्यालय, तिलवासनी, जोधपुर के प्रधानाचार्य श्री चिंतामणि ने कहा कि विज्ञान एवं कला ने मानव जीवन के विकास एवं समृद्धि में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। विद्यार्थियों को इन सबसे रूबरू कराने और  अपनी परंपराओं से जोड़ने के लिए ही इस प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। उन्होने बताया कि इस प्रदर्शनी में चयनित उत्कृष्ट मॉडल्स को राज्य स्तरीय प्रदर्शनी के लिए आगे भेजा जाएगा।

 कार्यक्र्म के आरंभ में मुख्य अतिथि श्री यादव ने पौधारोपण कर हरियाली का संदेश दिया और फिर दीप-प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। तत्पश्चात विद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती-गान और स्वागत-गीत प्रस्तुत किया। जवाहर नवोदय विद्यालय, तिलवासनी, जोधपुर के प्रधानाचार्य श्री चिंतामणि ने मुख्य अतिथि के रूप में श्री यादव का स्वागत करते हुए कहा कि यह गौरव का विषय है कि नवोदय विद्यालय के ही पूर्व छात्र रहे श्री कृष्ण कुमार यादव ने आज उच्च प्रशासनिक पद पर विराजमान होते हुए यहाँ छात्र-छात्राओं की हौसला-आफजाई की।

कार्यक्रम का संचालन मनोहर सिंह और आभार ज्ञापन शोहरत हुसैन ने किया। इस अवसर पर तमाम नवोदय विद्यालय के अध्यापक, विद्यार्थिगण इत्यादि मौजूद रहे।


















































एक टिप्पणी भेजें