समर्थक / Followers

रविवार, 20 जुलाई 2014

प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं


जीवन में सफलता के बहुत मायने हैं।  कई बार जब हम जीवन में असफल होते हैं तो अपने ऊपर प्रश्नचिन्ह लगाने की बजाय परिस्थितियों को दोष देने लगते हैं। कहते हैं कि अभावों के बीच ही भाव पैदा होते हैं, जरुरत बस दृढ इच्छा शक्ति की है।  प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं . इन उदाहरणों पर गौर करके तो देखिये-

1 - मुझे उचित शिक्षा लेने का अवसर नहीं मिला। 

-उचित शिक्षा का अवसर फोर्ड मोटर्स के मालिक हेनरी फोर्ड को भी नहीं  मिला ।

2- बचपन में  ही मेरे पिता का देहांत हो गया था। 

-प्रख्यात संगीतकार एआर रहमान के पिता का भी देहांत बचपन में हो गया था।

3 - मै अत्यंत गरीब घर से हूँ।

-पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम भी गरीब घर से थे ।

4- बचपन से ही अस्वस्थ था। 

-ऑस्कर  विजेता अभिनेत्री मरली मेटलिन भी बचपन से बहरी व अस्वस्थ थीं ।

5 - मैंने  साइकिल पर घूमकर आधी जिंदगी गुजारी है। 

-निरमा के करसन भाई पटेल ने भी साइकिल पर निरमा बेचकर आधी जिन्दगी गुजारी ।

6- एक दुर्घटना में अपाहिज होने के बाद मेरी हिम्मत चली गयी।

- प्रख्यात नृत्यांगना सुधा चन्द्रन के पैर नकली हैं  ।

7 - मुझे बचपन से मंद बुद्धि कहा जाता है।  

- थामस अल्वा एडीसन को भी बचपन से मंदबुद्धि कहा जाता था।

8 - मैं  इतनी बार हार चुका कि  अब हिम्मत नहीं बची।  

-अब्राहम लिंकन 15 बार चुनाव हारने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति बने।

9 - मुझे बचपन से ही परिवार की जिम्मेदारी उठानी पड़ी। 

- प्रख्यात पार्श्व गायिका लता मंगेशकर को भी बचपन से ही परिवार की जिम्मेदारी उठानी पङी थी।

10 - मेरी लंबाई बहुत कम है।  

- सचिन तेंदुलकर की भी लंबाई कम है।

11 - मैं एक छोटी सी नौकरी करता हूँ, भला  इससे क्या होगा। 

 -धीरु अंबानी भी छोटी नौकरी करते थे।

12 - मेरी कम्पनी एक बार दिवालिया हो चुकी है, अब मुझ पर कौन भरोसा करेगा।

- दुनिया की सबसे बङी शीतल पेय निर्माता पेप्सी कोला भी दो बार दिवालिया हो चुकी है ।

13 - मेरा दो बार नर्वस ब्रेकडाउन हो चुका है, अब क्या कर पाऊँगा। 

-डिज्नीलैंड बनाने के पहले वाल्ट डिज्नी का तीन बार नर्वस ब्रेकडाउन हुआ था।

14 - मेरी उम्र बहुत ज्यादा है। 

- विश्व प्रसिद्ध केंटुकी फ्राइड के मालिक ने 60 साल की उम्र में  पहला रेस्तरा खोला था।

15 - मेरे पास बहुमूल्य आइडिया है पर लोग अस्वीकार कर देते हैं। 

- जेरॉक्स  फोटोकापी मशीन के आइडिये को भी ढेरों कंपनियों  ने अस्वीकार किया था पर आज परिणाम सामने है ।

16 - मेरे पास धन नहीं।

- इन्फोसिस के पूर्व चेयरमैन नारायणमूर्ति के पास भी धन नहीं था, उन्हें अपनी पत्नी के गहने बेचने पङे।

17 - मुझे ढेरों बीमारियाँ हैं।

-वर्जिन एयरलाइंस के प्रमुख भी अनेकों बीमारियों से ग्रस्त थे।  अमेरिका के राष्ट्रपति रुजवेल्ट के दोनों  पैर काम नहीं करते थे।

उपरोक्त के बावजूद :
कुछ लोग कहेंगे  कि यह जरुरी नहीं  कि जो प्रतिभा इन महानायकों  में थी, वह हममें  भी हो।

उनकी इस बात से भी सहमति है, लेकिन यह भी जरुरी नहीं कि जो प्रतिभा आपके अंदर है वह इन महानायकों में भी हो।

सार यह है कि -

"आज आप जहाँ  भी हैं  या कल जहाँ भी होंगे, उसके लिए आप किसी और को जिम्मेदार नहीं  ठहरा सकते। इसलिए आज चुनाव करिये कि आपको  सफलता और सपने चाहिए या खोखले बहाने ....!!"

-कृष्ण कुमार यादव @ शब्द-सृजन की ओर
फेसबुक - https://www.facebook.com/krishnakumaryadav1977
फेसबुक पेज - https://www.facebook.com/KKYadav1977



एक टिप्पणी भेजें